Sunday, 16 February 2014

ऋषि परम्परा के संवाहक योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज एक कर्मयोगी, योद्धा, सेनापति, सन्यासी

ये हैं हमारे गुरुदेव योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज http://www.youtube.com/watch?v=7-ZSXpxuvb0



भारत स्वाभिमान आन्दोलन के सैनिकों के सेनापति स्वामी रामदेव जी अपने सैनिकों के लिए खाना बना 










रहे हैं और खाना बनाने के बाद स्वामी जी ने सभी स्वाभिमानी क्रान्तिकारियों को खाना परोसा भी 

हमें गर्व है हमें ऐसे योगी,  सेनापति सन्यासी पर जो सिर्फ कहते ही नहीं हर कार्य को करके दिखाते हैं 

वेदों के अनुसार हमारी संस्कृति से जुड़े चार वर्णों को हम स्वामी जी में कुछ यूं देखते हैं 


स्वामी जी महाराज का ब्राह्मण रूप > स्वामी जी से हम शिक्षा ग्रहण करते हैं, योग, आयुर्वेद, वेद आदि की





 

स्वामी रामदेव जी को हम एक क्षत्रिय की भूमिका में देखते हैं >


वर्तमान भ्रष्ट व्यवस्था नेहरू-गाँधी परिवार और उनकी लुटेरी कांग्रेस  पार्टी के विरूद्ध उनका धर्मयुद्ध जो

 निरंतर जारी है  विदेशों में जमा कालेधन को लाने के लिए, भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए व स्वदेशी

 भारतीय व्यवस्था को लागू करवाने के लिए उनके द्वारा चलाए जा रहे व्यवस्था परिवर्तन के भारत स्वाभिमान आन्दोलन को देख> स्वामी रामदेव जी महाराज में हमें एक ेक्षत्रिय नजर आते हैं 














जब योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज आयुर्वेद व स्वदेशी को भारत ही नहीं पूरे विश्व में मानव मात्र की भलाई के लिए, जनता के लाभ के लिए घर-घर पहुंचाते हैं उनके लाभ बताते हैं पतंजलि योगपीठ, पतंजलि आर्युवेद, पतंजलि चिकित्सालय, पतंजलि स्वदेशी केन्द्र, पतंजलि ओपन मार्किट में सभी स्वदेशी, आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स देखते हैं और स्वयं स्वामी रामदेव जी को उनका प्रचार प्रसार करते देखते हैं तब स्वामी रामदेव जी महाराज में हमें एक वैश्य नजर आता है, जो अपने देश को बचाने के लिए अपनी ऋषि परम्परा योग, आयुर्वेद को जन जन तक पहुंचाने के लिए व विदेशी लूट से बचाने के लिए स्वदेशी प्रोडक्ट मार्किट में लाकर विदेशी कम्पनियों को टक्कर देकर देश में हो रही लूट से बचाने के लिए भी हम स्वामी जी महाराज को कोटि कोटि प्रणाम करते हैं !







जब हम स्वामी जी महाराज को जनता की सेवा करते देखते हैं, रोजाना आस्था, संस्कार, लाखों योग शिक्षकों व अन्य माध्यामों से लोगों को निशुल्क योग सिखाते हैं, संत सविदास लंगर गृह बनाकर वहां लोगों को निशुल्क भोजन उपलब्ध करवाते हैं, बाल्मीकि धर्मशाला पतंजलि योगपीठ में लोगों के रहने के लिए आज भी निशुल्क व्यवस्था करवा रखी है और सैकड़ों ऐसे सेवा के कार्य स्वामी जी महाराज द्वारा चलाए जा रहे हैं !










हम सौभाग्यशाली हैं जो इस जन्म में हमें ऐसे कर्मयोगी योद्धा, सन्यासी, योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज का आशीर्वाद प्राप्त हुआ

स्वामी जी को चरण वन्दन



1 comment:

  1. This post is amazing. I am happy to see your thoughts. This blog too much informational for me. It’s very useful to all. A trust in Nepal is Yogpeeth patanjali is place where natural disaster victims get help. Patanjali Yogpeeth Nepal is also managing yoga camp. They provide employment to the needy people and also there is you can get best herbal and ayurvedic treatment. At Patanjali Yogpeeth you can find the best comfort and full support to improve your health, lifestyle.

    ReplyDelete